उत्तर प्रदेश

कानपुर में शिक्षा को हिंदू-मुस्लिम रंग देने वाले शिक्षक पर कार्यवाही को लेकर डीएम को ज्ञापन

कानपुर। आज कानपुर में मुस्लिम वेलफेयर एण्ड एजूकेशनल संस्था के सचिव इखलाक अहमद डेविड के नेतृत्व में शिक्षा को हिंदू मुस्लिम रंग देने के कार्य कर छात्र/छात्रा को भड़काने वाले शिक्षक पर कार्यवाही को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल जिलाधिकारी से मिला व ज्ञापन प्रेषित किया।
प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी से मिला व उनको बताया कि बीएनएसडी इण्टर कालेज में प्रवक्ता पद पर कार्यरत डा० दिवाकर मिश्रा जो शिक्षक होकर शिक्षण संस्था के बारे में बिना किसी तथ्य के हलीम मुस्लिम इण्टर कालेज की मान्यता रद्द करने के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक से वार्ता कर पत्र देते है जो दैनिक समाचार पत्रों में खबर भी प्रकाशित होने के साथ वायरल हो गयी जिससे हलीम मुस्लिम इण्टर कालेज के शिक्षक/शिक्षिकाओं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों में नाराज़गी है व शिक्षण संस्थान में शिक्षा ग्रहण कर रहे हज़ारो छात्र/छात्रा को भड़काने का कार्य किया है। दिवाकर मिश्रा एक शिक्षक के साथ भाजपा शिक्षण प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक भी है जिस कारण उन्होंने ऐसे कार्य को अंजाम दिया वो अपनी नेतागीरी चमकाने व शिक्षा को भी हिंदू-मुस्लिम का रंग देने के मकसद से सोची समझी रणनीति के तहत किया है। शिक्षक होकर ऐसी घृणित मानसिकता शिक्षक के नाम पर धब्बा है फिर क्या बीएनएसडी में छात्रों को साम्प्रदायिकता का पाठ पढ़ाते है। इस पूरे प्रकरण की जाँच होकर कार्यवाही होना अति आवशयक है।
प्रतिनिधि मंडल ने इसी से सम्बंधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौपा जिलाधिकारी विशाख जी ने प्रकरण की जाँच का आश्वासन दिया।प्रतिनिधि मंडल मे मुख्य रुप से इखलाक अहमद डेविड, शफाअत हुसैन डब्बू, अयाज़ अहमद चिश्ती, एजाज़ हुसैन, इज़हारुल अंसारी, कौसर अंसारी, एजाज रशीद, इमरान पठान, राहुल अंसारी आदि लोग मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button