अपना देशउत्तर प्रदेशताज़ातरीनपूर्वांचल

22 अक्टूबर को अटेवा निकालेगा नई पेंशन एवं निजी करण भारत छोड़ो पदयात्रा

अटेवा मंडल अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दी जानकारी

कानपुर । ऑल टीचर्स एंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) कानपुर मंडल अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर संगठन 22 अक्टूबर को पूरे प्रदेश में नई पेंशन योजना एवं निजी करण भारत छोड़ो पदयात्रा निकालेगा । कानपुर नगर के सभी अटेवियंस जीएनके इंटर कॉलेज सिविल लाइंस पर एकत्रित होकर भीषण जनसमूह में जिलाधिकारी कार्यालय की ओर मार्च करेंगे जहां पर माननीय मुख्यमंत्री को नई पेंशन योजना एवं निजी करण समाप्त करने हेतु ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से प्रेषित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि देश में माननीय सांसदों एवं विधायकों को पुरानी पेंशन दी जा सकती है तो कर्मचारियों को क्यों नहीं। विडंबना है कि देश में 1 दिन का सांसद या विधायक भी पेंशन का हकदार हो जाता है लेकिन 35 से 40 वर्ष सरकारी सेवा करने के बावजूद भी कर्मचारी पेंशन विहीन है और उनके आश्रित दर-दर ठोकर खाने को मजबूर हैं। नई पेंशन योजना लागू हुए लगभग 16 वर्ष बीत जाने के बाद भी यह योजना धरातल पर पूरी तरह से विफल सिद्ध हुई है जिसका खामियाजा रिटायरमेंट के बाद शिक्षकों एवं कर्मचारियों को भुगतना पड़ रहा है। सरकार लगातार नई पेंशन योजना में संशोधन कर रही है जो इसकी खामियों का स्पष्ट प्रमाण है।अटेवा जिला अध्यक्ष नीरज तिवारी ने बताया कि यदि सरकार फिर भी पुरानी पेंशन बहाल नहीं करती है तो संगठन 21 नवंबर को लखनऊ में पेंशन शंखनाद महारैली आयोजित करेगा जिसमें विभिन्न संगठनों के लाखों कर्मचारी एक साथ प्रतिभाग करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button